टिहरी में पुस्ता टूटने से उसका मलबा दो मंजिला मकान के ऊपर गिरा, हादसे में दो युवती और एक युवक मलबे में दबे

टिहरी में आज सुबह करीब चार बजे नरेंद्रनगर कुंजापुरी के पास खेड़ा गाड़ गांव में ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे (एनएच 94) का पुश्‍ता (सुरक्षा दीवार) मकान के ऊपर गिर गया। मलबे में भाई बहन समेत तीन लोग दब गए। सूचना पर एसडीआरएफ और पुलिस-प्रशासन की टीमें मौके पर पहुंची और रेस्‍क्‍यू आपरेशन शुरू कर दी। एसडीएम युक्ता मिश्रा ने बताया कि एक युवती का शव निकाला गया है, जबकि दो लोगों की तलाश चल रही है। अभी शव की शिनाख्‍त नहीं हुई है।

प्राप्‍त जानकारी के अनुसार, दुर्घटना आज सुबह करीब चार बजे की है। नरेंद्रनगर में कुंजापुरी के पास खेड़ा गाड़ गांव में ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे (एनएच 94) का 20 मीटर पुश्‍ता धर्म सिंह निवासी ग्राम खेड़ा गाड़ हिंडोलाखाल तहसील नरेंद्रनगर (टिहरी) के एक दो मंजिला मकान के ऊपर गिर गया। इस हादसे में उनके एक पुत्र और एक पुत्री समेत तीन लोग मलबे में दब गए। जबकि धर्म सिंह को हल्‍की चोट आई है।

इस संबंध में आपदा प्रबंधन टीम एसडीआरएफ एवं पुलिस फोर्स  द्वारा मौके पर पहुंचकर  रेस्क्यू अभियान जारी है। मकान के नीचे मलबे में दबे लोगों को निकालने का प्रयास किया जा रहा है। स्थानीय ग्रामीणों ने एनएच 94 का पुश्‍ता टूटने एवं मकान पर गिरने से राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों एवं कार्यदाई संस्था के विरुद्ध रोष प्रकट किया। जिम्मेदार अधिकारियों को मौके पर बुलाए जाने की मांग की जा रही है।

मलबे में दबे

  • 1- अंकित (19 वर्ष) पुत्र धर्म सिंह निवासी ग्राम खेड़ा गाड़, तहसील नरेंद्र नगर (टिहरी गढ़वाल)।
  • 2- विनीता (28 वर्ष) पुत्री धर्म सिंह निवासी ग्राम खेड़ा गाड़, तहसील नरेंद्र नगर (टिहरी गढ़वाल)।
  • 3- नीलम (22 वर्ष) पुत्री कमल सिंह निवासी ग्राम दयूली, आगरा खाल (टिहरी गढ़वाल)।

तीन पर्वतीय जिलों में आज भी बारिश का ऑरेंज अलर्ट

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के मुताबिक, प्रदेश के तीन जिलों में शुक्रवार को भी भारी बारिश की आशंका है। मौसम विभाग ने पिथौरागढ़, बागेश्वर और चमोली जिले में बारिश को लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इसके अलावा अन्य जिलों में भी हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

बारिश से सौंग नदी में उफान पर

दून घाटी व पहाड़ी क्षेत्रों में हुई बारिश से सौंग नदी में उफान आ गया है। इससे नदी कि तटवर्ती क्षेत्र गौहरीमाफी व साहब नगर गांव में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है। शनिवार तड़के नदी में आए उफान से ग्रामीणों में दहशत है। ग्रामीणों ने बताया कि कई जगह पर तारजाल क्षतिग्रस्त हैं और और इन जगहों से बाढ़ के पानी का गांव में घुसने का खतरा पैदा हो गया है। टिहरी फार्म एक नंबर क्षेत्र में नदी से कटाव शुरू हुआ है। नदी खेतों से सटकर बह रही है। बता दें कि बीते दिनों जिला व तहसील के अधिकारियों ने क्षेत्र का दौरा कर तत्काल फौरी बाढ़ सुरक्षा कार्य कराए जाने की थी लेकिन धरातल पर अब तक कोई कार्य शुरू नहीं हुआ है। साहबनगर व गौहरीमाफी बाढ़ के लिहाज से अति संवेदनशील है, यहां सौंग नदी हर साल व्यापक तबाही मचाती है।

ऋषिकेश गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग भूस्‍खलन से बंद

ऋषिकेश गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर नरेंद्रनगर व आगराखाल के बीच चट्टान टूटने से मार्ग बंद हो गया। ऋषिकेश से टिहरी व श्रीनगर की ओर जाने वाले सभी वाहनों को भद्रकाली चेकपोस्ट पर रोक दिया गया है। जिससे यहां वाहनों की करीब एक किलोमीटर लंबी लाइन लग गई है। थाना प्रभारी निरीक्षक नरेंद्र नगर मनीष उपाध्याय ने बताया कि नरेंद्र नगर से करीब 7 किलोमीटर आगे हिंडोला खाल के समीप देर रात भारी बारिश के बाद भूस्खलन होने से सड़क पर चट्टान टूट कर आ गई है। जिसको खोलने का काम जारी है। उन्होंने बताया कि करीब एक घंटे बाद यातायात सुचारू हो पाएगा। इन दिनों ऋषिकेश-बदरीनाथ मार्ग पर तोताघाटी के समीप सड़क टूटी होने के कारण ऋषिकेश से श्रीनगर जाने वाले वाहनों को भी वाया चंबा, गडोलिया आगे भेजा जा रहा है।

जजरेड के पास मलबे में दबा लोडर 

देहरादून जिले के विकासनगर क्षेत्र के कालसी-चकराता मोटर मार्ग पर जजरेड के पास पहाड़ी से हुए भूस्खलन टमाटर से भरा लोडर वाहन मलबे में दब गया। लोडर वाहन मालिक राहुल तोमर आज सुबह टमाटर लेकर फेडुलानी से विकासनगर मंडी जा रहा था। इसी दौरान जजरेड के पास अचानक मलबा लोडर वाहन के ऊपर आ गिरा। इस हादसे में वाहन पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया, जबकि किसानों की टमाटर की फसल भी नष्ट हो गई। किसानों और ड्राइवर ने बड़े मुश्किल से अपनी जान बचाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *