लंदन में नौकरी लगवाने के नाम पर दो विदेशी नागरिकों ने की करीब साढ़े बीस लाख की ठगी

रुड़की: अधिवक्ता की बेटी की लंदन में नौकरी लगवाने के नाम पर दो विदेशी नागरिकों ने करीब साढ़े बीस लाख की ठगी कर ली। अधिवक्ता की तहरीर पर पुलिस ने दोनों आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

सिविललाइंस कोतवाली क्षेत्र के 30 सिविललाइंस निवासी अशोक चौधरी अधिवक्ता हैं। इनकी बेटी मृणालिनी ने इसी साल पूणे से एमटेक की पढ़ाई पूरी की है। करीब दो माह पूर्व मृणालिनी ने एक साइट पर नौकरी के लिए आवेदन किया था।

इसके सात दिन बाद यूनाइटेट किंगडम निवासी डोनाल्ड ब्राउन ने ई-मेल करके बताया कि उनका आवेदन स्वीकार कर लिया गया। सात दिन बाद ऑनलाइन इंटरव्यू होने की जानकारी दी गई। इंटरव्यू के सात दिन बाद डोनाल्ड ब्राउन ने ई-मेल करके बताया कि नौकरी के लिए उनका चयन हो गया है। अब दिल्ली में उनका एक आदमी डेविड फेडरिक उनके वीजा और लंदन आने की व्यवस्थाओं देखेगा।

कुछ दिन बाद डेविड फेडरिक ने ई-मेल करके वीजा के नाम पर 29 हजार तथा हेल्थ इंशोयरेंस समेत अन्य औपचारिकताओं के लिए तीन बैंक खातों में 20 लाख  21 हजार 499 रुपये की रकम जमा करा ली। रकम जमा होने के बाद जब कोई जवाब नहीं मिला तो परिजनों को शक हुआ।

इसके बाद मामले की शिकायत एसएसपी कृष्ण कुमार वीके से की गई। एसएसपी के निर्देश पर रुड़की पुलिस ने डोनाल्ड ब्राउन निवासी यूनाइटेड ङ्क्षकगडम तथा डेविड फेडरिक निवासी डेवल फार्मा कंपनी लिमिटेड नई दिल्ली पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है। इंस्पेक्टर अमरजीत ङ्क्षसह ने बताया कि ठगी ई-मेल के जरिये हुई है। इस मामले की जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *