महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सुशांत सिंह आत्‍महत्‍या मामले पर सख्‍त रुख अपनाते हुए कहा, दोषियों को बख्‍शा नहीं जाएगा

सुशांत सिंह राजपूत आत्‍महत्‍या  (Sushant Singh Rajput Case)  मामले में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे  (Uddhav Thackeray) ने सख्‍त रुख अपनाते हुए कहा कि इस मामले पर राजनीति न करें। मुंबई पुलिस अक्षम नहीं है। यदि किसी के पास कोई सबूत है तो वे इसे हमारे पास ला सकते हैं और हम दोषियों से पूछताछ कर उन्‍हें सजा देंगे। कृपया इस मामले को महाराष्ट्र और बिहार के बीच विवाद पैदा करने के बहाने के रूप में उपयोग न करें।

 गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत आत्‍महत्‍या मामले में शुक्रवार को बिहार सरकार और परिजनों के बाद महाराष्ट्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कैविएट भी दायर की है, जिससे रिया चक्रवर्ती मामले में महाराष्ट्र सरकार का पक्ष सुने बिना किसी तर‍ह का कोई फैसला न हो। यह जानकारी महाराष्ट्र सरकार की स्टैंडिंग काउंसिल के सचिव के सचिन पाटिल ने दी है। सुशांत मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया है। बिहार पुलिस की एफआइआर के आधार पर मनी लांड्रिंग केस में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती को भी आरोपित बनाया गया है। ईडी जल्द ही इस मामले में रिया चक्रवर्ती को पूछताछ करेगी। ईडी के वरिष्ठ अधिकारी इस मामले की पूरी जांच की निगरानी करेंगे।

इस मामले में बॉलीवुड अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने अपनी बेगुनाही का दावा करते हुए कहा है कि उन्‍हें फंसाया जा रहा है। रिया ने कहा कि वह अभिनेता के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में थी। सुशांत कुछ समय से अवसाद से पीड़ित थे। उन्होंने आरोप लगाया कि मामले की बिहार में निष्पक्ष जांच नहीं हो सकती इसलिए प्राथमिकी को मुंबई स्थानांतरित करने की मांग की है।

बता दें कि बिहार पुलिस ने पटना में सुशांत के पिता के के सिंह द्वारा रिया के खिलाफ आत्महत्या सहित कई धाराओं के तहत एफआइआर दर्ज करवाये जाने के बाद जांच शुरु की है। बिहार सरकार और सुशांत के परिवार ने वीरवार को सर्वोच्‍च न्‍यायालय  के समक्ष कैवियट दायर कर रिया की याचिका को चुनौती दी है। गौरतलब है कि बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत का शव मुंबई के उपनगर बांद्रा में गत 14 जून को उनके अपार्टमेंट में छत से लटका मिला था। इसके बाद से ही मुंबई पुलिस विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रख कर इस मामले की जांच में जुटी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *