एम्स में एमबीबीएस में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा में हुए अहम बदलाव

देहरादून : अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में एमबीबीएस में दाखिले के लिए आयोजित होने वाली प्रवेश परीक्षा को लेकर अहम बदलाव किया गया है। यह परीक्षा अब दो दिन आयोजित की जाएगी। एम्स ने इसे लेकर अधिसूचना जारी कर दी है।

एम्स में एमबीबीएस में प्रवेश लेने के इच्छुक छात्रों का इंतजार आखिर खत्म हुआ। परीक्षा की ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया पांच फरवरी से शुरू होने जा रही है। अभ्यर्थी पांच मार्च की शाम पांच बजे तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके बाद एम्स अपनी वेबसाइट पर सभी आवेदनों की सही स्थिति की जानकारी अपलोड करेगा।
परीक्षा का आयोजन 26 और 27 मई को किया जाएगा। इस बार भी सभी अभ्यर्थियों को कंप्यूटर आधारित परीक्षा से गुजरना होगा। पहली पाली सुबह नौ बजे से दोपहर 12:30 बजे तक और दूसरी पाली दोपहर तीन बजे से शाम 6:30 बजे तक होगी। परीक्षा में शामिल होने के लिए सामान्य और ओबीसी अभ्यर्थी के 12वीं में अंग्रेजी, फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी में कम से कम 60 प्रतिशत अंक होने चाहिए, जबकि एससी, एसटी अभ्यर्थियों के लिए 50 प्रतिशत अंक अनिवार्य हैं।
किस एम्स में कितनी सीटें 
संस्थान का नाम सीटें 
एम्स दिल्ली 100
एम्स भोपाल 100
एम्स पटना 100
एम्स जोधपुर 100
एम्स ऋषिकेश 100
एम्स रायपुर 100
एम्स भुवनेश्वर 100
एम्स की परीक्षा तुलनात्मक रूप से मुश्किल मानी जाती है। वीआर क्लासेज के प्रबंध निदेशक वैभव राय के अनुसार एग्जाम का एक सेक्शन एप्टीट्यूड एंड लॉजिकल थिंकिंग का रहेगा। इस सेक्शन के तहत 10 सवाल पूछे जाएंगे। इसके अलावा फिजिक्स, केमिस्ट्री व बायोलॉजी के 60-60 और जनरल नॉलेज के 10 प्रश्न रहेंगे। यानी अच्छे स्कोर के लिए किसी भी छात्र को एप्टीट्यूड एंड लॉजिकल थिंकिंग पर भी मेहनत करनी होगी। उन्होंने बताया कि गत वर्षो में प्रदेश के छात्र-छात्राओं का एम्स एमबीबीएस प्रवेश परीक्षा में सफलता का प्रतिशत बढ़ा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *