तमन्ना के परिजनों ने लगाया पुलिस पर आरोपियों को बचाने व उन्हें बेवजह परेशान करने का आरोप

नैनीताल : नैनीताल-भवाली मार्ग पर संदिग्ध परिस्थितियों में मृत मिली तमन्ना के परिजनों ने नैनीताल पुलिस पर आरोपियों को बचाने व उन्हें बेवजह परेशान करने का आरोप लगाया है। साथ ही दोहराया कि तमन्ना की दहेज के खातिर हत्या की गई, मगर पुलिस शुरू से ही इसे हादसा बताने में तुली है।

दिल्ली से नैनीताल पहुंचे मृतका के भाई आसिफ खान, परवेज टाटा और बहिन रुखसाना ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि आरोपी खुलेआम घूम रहा है। अब तक पुलिस ने तमन्ना के पति सद्दाम से तथा जिस टेक्सी में घूमने गए थे, उसके चालक से तक पूछताछ नहीं की।

आरोप है कि ससुराल पक्ष की बजाय पुलिस मायकेवालों से पूछताछ कर रही है कि आपकी बेटी कैसे मरी। आरोप लगाया कि पुलिस ने मृतका के कपड़े तक सील नहीं किए।

उन्होंने बाया कि बताया कि पिछले साल नवंबर में नोयडा निवासी युवक से तमन्ना की शादी हुई थी। शादी में तीन गाड़ियां, 60 तोला सोना दिया। 11 लाख सगाई में दिए गए। शादी के दौरान पांच लाख 51 हजार भी दिए गए।

आरोप है कि इसके बावजूद ससुराली 25 लाख रुपये मांग रहे थे। शादी के अगले दिन से दहेज के लिए तमन्ना को परेशान किया गया। शादी के बाद उसका पति सद्दाम नाइट ड्यूटी करता रहा। 12 जनवरी को ससुराल आई तमन्ना को हनीमून के बहाने ले गया। इसके बाद उसकी नैनीताल में संदिग्ध मोत हुई।

उन्होंने आरोप लगाया कि सद्दाम की शादी तय होते समय सेलरी 40 हजार मासिक बताई गई थी। बाद में पता चला कि उसे 17 हजार रुपये ही मिलते थे। उन्होंने कहा कि सीओ जांच में साक्ष्य नहीं मिलने की बात कह आरोपी को बचा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब तक उनकी बेटी व बहिन का हत्यारा सलाखों के पीछे नहीं जाता यह लड़ाई जारी रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *