एक फर्जी प्रमाण पत्र पर दो शिक्षक कर रहे नौकरी

देहरादून : एसआइटी ने फर्जी प्रमाण पत्र से नौकरी कर रहे एक और शिक्षक के खिलाफ मुकदमे की संस्तुति की है। आरोप है कि एक ही प्रमाण पत्र पर दो शिक्षक नौकरी कर रहे थे। इसमें जसपुर टीला में तैनात शिक्षक के प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए हैं। एसआइटी ने शिक्षा महानिदेशक को अपनी संस्तुति भेज दी है।

फर्जी डिग्री से शिक्षक बनने वालों के खिलाफ चल रही एसआइटी की जांच में एक ही प्रमाण पत्र से दो शिक्षक नौकरी करते हुए पकड़े गए। एसआइटी ने प्रमाण पत्रों की गहनता से जांच की तो राजकीय प्राथमिक विद्यालय जसपुर टीला में तैनात सहायक अध्यापक बिजेंद्र कुमार के प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए। इसी नाम से बिजेंद्र कुमार सहारनपुर में नपुर में प्रधानाध्यापक के पद पर तैनात है।

उनके प्रमाण पत्र असली पाए गए। जबकि जसपुर में तैनात शिक्षक के हाईस्कूल, इंटर के प्रमाण पत्र पूरी तरह से फर्जी पाए गए। इसके अलावा बीएससी और बीएडी की मार्कशीट भी फर्जी है। एसआइटी प्रभारी एएसपी श्वेता चौबे ने बताया कि आरोपी शिक्षक 2014 में टीला जसपुर में सहायक अध्यापक के पद पर तैनात हुआ था। आरोपी के खिलाफ शिक्षा महानिदेशक से मुकदमे की संस्तुति कर दी है। इस मामले में आरोपी के पिता, माता का नाम भी एक जैसा है।

झूठा निकला पता 

इस मामले में आरोपी शिक्षक का जो पता दिया गया, उसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। आरोपी ने जांच में फंसने के बाद लक्सर से एक फर्जी मूल निवास प्रमाण पत्र बनाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *