कौन हैं नरेंद्र मोदी की पाकिस्तानी बहन

जानिए- कौन हैं PM नरेंद्र मोदी की पाकिस्तानी बहन, 24 सालों से बांध रहीं उन्हें राखी

नई दिल्ली,रक्षाबंधन… भाई और बहन के प्यार का प्रतीक, इस त्यौहार का सभी भाई-बहनों को लंबे समय से इंतजार रहता है। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी महिलाओं से लेकर स्कूल की लड़कियां तक राखी भेजती है। लेकिन, अब जो कहानी हम आपको बताने जा रहे हैं वो सीधा आपके दिल को छू जाएगी। पाकिस्तान की एक महिला जिसका नाम कमर मोहसिन शेख हैं वह लगभग पिछले 24 सालों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राखी बांधती आ रहीं हैं।

कौन है कमर मोहसिन शेख
कमर मौहशीन शेख ने मूल रूप से पाकिस्तान की है। शादी के बाद वह भारत आ गई थीं। तभी से वह भारत में रह रही हैं। फिलहाल, वह अहमदाबाद में रहती है। उनके पति एक पेंटर है।

कैसे हुई पीएम मोदी और मोहसिन की मुलाकात
मोहसिन और पीएम मोदी की मुलाकात उन दिनों हुई थी जब वह आरएसएस से जुड़े हुए थे। दरअसल, एक बार मोहसिन अपने पति का साथ दिल्ली किसी काम से आईं थी। उस दिन रक्षाबंधन था। तब उन्होंने पीएम मोदी से राखी बांधने का आग्रह किया। पीएम ने भी हामी भरी और तभी से मोहसिन उन्हें राखी बांधती आ रही है।

2017 में पीएम मोदी ने खुद फोन करके बुलाया था
साल 2017 में मोहसिन को लगा की शायद पीएम मोदी काम में व्यस्त हैं इस वजह से उन्होंने फैसला किया कि वह इस बार उन्हें राखी बांधने नहीं जाएंगी। लेकिन, पीएम मोदी ने खुद दो दिन पहले उन्हें फोन करके आने के लिए कहा। मोहसिन ने कहा कि वह फोन कॉल आने के बाद बेहद खुश हुई थी।

मोहसिन ने एक बार कहा था कि उन्होंने पीएम मोदी से कहा था कि मैं आज जो कुछ भी हूं सिर्फ आपकी वजह से हूं। पीएम सिर्फ मेरा ही हाल चाल नहीं पूछते बल्कि मेरे बेटे सुफियान और मेरे पति के बारे में भी पूछते हैं। ये सब देखकर मुझे लगता है कि मैं इस दुनिया की सबसे खुशकिस्तम इंसान हूं।

पीएम मोदी से क्या तोहफा चाहती है उनकी बहन
मोहसिन से जब पूछा गया था कि वह पीएम मोदी से तोहफे में क्या चाहती हैं तो उन्होंने जवाब दिया था कि वह सिर्फ उनका आशीर्वाद चाहती हैं। उनका आशीर्वाद ही उनके लिए सबकुछ है।

इस साल स्वतंत्रता दिवस के दिन ही रक्षाबंधन है, पीएम मोदी पहले लाल किले से लोगों को संबोधित करेंगे इसके बाद वह अपना 7, लोक कल्याण मार्ग स्थित आवास पर रक्षाबंधन मनाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *